Goodreads helps you keep track of books you want to read.
Start by marking “एक अतिरिक्त 'अ'” as Want to Read:
एक अतिरिक्त 'अ'
Enlarge cover
Rate this book
Clear rating
Open Preview

एक अतिरिक्त 'अ'

by
4.67  ·  Rating details ·  3 ratings  ·  1 review
क्या अनुभव की निराशाएं एक मानवीय सामर्थ्य को जन्म देती हैं और क्या उम्मीद किसी गहरी
नाउम्मीदी से पैदा होती है? युवा कवि रश्मि भारद्वाज की कविता इसका जवाब एक मज़बूत हाँ में
देती है. उनकी कविता में एक ऐसे दुःख से हमारी मुलाक़ात होती है जिसके अनुपस्थित होने पर बड़ी
कविता की रचना मुमकिन नहीं हुई है, लेकिन वह दुःख अपने को प्रचारित नहीं करता, बल्कि अपनी
विविध छवियों के साथ ‘किसी की अनु
...more
Hardcover, 1st, 134 pages
Published 2017 by Bhartiya Jnanpith
More Details... Edit Details

Friend Reviews

To see what your friends thought of this book, please sign up.

Reader Q&A

To ask other readers questions about एक अतिरिक्त 'अ', please sign up.

Be the first to ask a question about एक अतिरिक्त 'अ'

This book is not yet featured on Listopia. Add this book to your favorite list »

Community Reviews

Showing 1-11
Average rating 4.67  · 
Rating details
 ·  3 ratings  ·  1 review


More filters
 | 
Sort order
Start your review of एक अतिरिक्त 'अ'
Puneet Kusum
Jan 02, 2018 rated it really liked it
2017 यानी इसी साल भारतीय विद्यापीठ से प्रकाशित रश्मि भारद्वाज का यह कविता संग्रह ‘नवलेखन पुरस्कार’ में अनुशंसित (recommended) कृति है। जब यह किताब हाथ में उठायी थी तो बाबुषा कोहली की ‘प्रेम गिलहरी दिल अखरोट’ की याद आ गयी। कारण शायद यह रहा होगा कि वह भी नवलेखन पुरुस्कार की विजेता थी। बहरहाल, किसी भी छवि में इस किताब को देखे बिना मैंने यह किताब पढ़नी शुरू की और बिना रुके पढ़ते हुए, तीन दिन में यह किताब मेरी किताबों की शेल्फ पर रखी हुई नई हिंदी की बेहतरीन किताबों में से एक बन चुकी है। तीन दिन भी नौ ...more
Akanksha  Singh
rated it it was amazing
Aug 05, 2017
Tarun Awasthy
rated it it was amazing
Nov 24, 2017
Manjusha Singh
is currently reading it
Nov 21, 2017
Shobhit Shobhit
marked it as to-read
Jul 08, 2018
Sandeep Dulhera
marked it as to-read
Oct 15, 2019
Amit Tiwary
marked it as to-read
Jan 17, 2020
Kavi Chauhan
marked it as to-read
Apr 30, 2020
Shwati Pandey
marked it as to-read
May 19, 2020
Paritosh Kumar
marked it as to-read
Apr 28, 2018
There are no discussion topics on this book yet. Be the first to start one »
10 followers
शिक्षा -अँग्रेजी साहित्य से एम.फिल
पत्रकारिता में डिप्लोमा
वर्तमान में पी.एच.डी शोध (अँग्रेजी साहित्य)
दैनिक जागरण, आज आदि प्रमुख समाचार पत्रों में रिपोर्टर और सब - एडिटर के तौर पर कार्य का चार वर्षों का अनुभव ,वर्तमान में अध्यापन, स्वतंत्र लेखन और अनुवाद कार्य । गलगोटिया यूनिवर्सिटी में अंग्रेज़ी असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत
अनेक प्रतिष्ठित पत्र –पत्रिकाओं में विविध विषयों पर आलेख, कविताएँ एवं
...more

News & Interviews

Why not focus on some serious family drama? Not yours, of course, but a fictional family whose story you can follow through the generations of...
160 likes · 60 comments